राष्ट्रीय फैशन तकनीकी संस्थान
भोपाल
     
 
      निफ़्ट भोपाल  
   
 
 

Intranet Login

Username:

Password:

niftmail
 

देशभर में फैली ''निफ़्ट-शृंखला'' के ताज़ातरीन संस्करणों में से भोपाल एक नई कड़ी है। इसका व्यवस्थित संचालन जून सन् 2008 से, भोपाल नगर के  सुदूर दक्षिणी छोर पर, कोलार सड़क मार्ग के निकट, मध्यप्रदेश भोज मुक्त विश्वविद्यालय के परिसर में स्थित प्रांगण में प्रारंभ हो चुका है। यह संस्थान चारों ओर से घने पेड़-पौधों से घिरा है और साथ ही इसके प्रवेश मार्ग पर भी बड़ी मात्रा में पेड़-पौधे लगाए गए हैं। इससे न केवल हवा से बचाव होता है, बल्कि नगर के ध्वनि प्रदूषण से भी परिसर बचा रहता है।  परिसर का पिछला भाग कलियासोत बाँध से सटा है, तो इसके बगल से कोलार नदी बहती है। निफ़्ट के भोपाल केन्द्र की यह स्थिति  इसे बड़ी ही सुखद व आकर्षक सुंदरता से भर देती है।

यह परिसर हबीबगंज रेलवे स्टेशन से लगभग 5 किलोमीटर दूर है, भोपाल रेलवे स्टेशल से 17 किलोमीटर ओर राजा भोज विमानतल से लगभग 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। संस्थान द्वारा छात्रों के लिए दी गई बस सुविधा के अतिरिक्त भी आप  अन्य वाहनों से नगर के किसी भी भाग से सरलता से यहाँ पहुँचा सकते हैं; जैसे- नगर वाहन सेवा, टैम्पो आदि। परिसर की सुरक्षा व्यवस्था को यहाँ अहम् दर्ज़ा दिया गया है और परिसर के भीतर धूम्रपान पूर्णतः निषेध है।

फिलहाल, संस्थान द्वारा जो पाठ्यक्रम {कोर्स} चलाए जा रहे हैं; उनमें दो विषयों में विशेषज्ञता को सम्मिलित किया गया है- टेक्सटाईल डिजाइन में स्नातक की उपाधि और दूसरा ऐसैसरी डिज़ाइन। संस्थान में उत्कृष्ट शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए, निफ़्ट के लब्ध-प्रतिष्ठित संस्थानों से गुणी, ख्यातिप्राप्त व अनुभवी प्राध्यापक वर्ग और सहयोगी कर्मचारियों को जोड़ा गया है।

इस संस्थान का, समाज की आध्यात्मिक कला और उसके अभिकल्पना धर्म जो कि पूरे भारतवर्ष में व्याप्त है; से इसका गहरा संबंध रहा है। राज्य के  शैक्षिक क्षैत्र में यह संस्थान  एक  धुरी की तरह है। इस क्षेत्र में अग्रणी होने का लाभ यह है कि इसके संपर्क सूत्र फ़ैशन इण्डस्ट्री में अच्छी तरह बने हुए हैं। इससे निकलने वाले प्रशिक्षित अभ्यर्थियों को पदस्थापना, प्रशिक्षण, कार्यशालाओं में भाग लेने और परस्पर विचार-विमर्श के सुनहरे अवसर मिलने की अपार संभावनाएँ छुपी हुई हैं। यह संस्थान स्वयं को, मध्यप्रदेश में फ़ैशन ऐजुकेशन के क्षेत्र में एक अग्रदूत के रूप  में चित्रित करता है। जिसके चलते वह नियमित रूप से छात्रों के विभिन्न क्रियाकलापों का आयोजन करता है और उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर एक भव्यमंच प्रदान करता है।